नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 97541 60816 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , *EXPOSE-ब्लैकमेलिंग अवैध उगाही से कोठी भरने वाले ADG (IPS)जीपी सिंह को हिरासत में लेने का उड़ रहा हल्ला: आधी रात अपने ही ADG का बंगला पुलिस ने घेरा, इधर छापे का वारंट निकला उधर इस IPS ने करीबियो के पास भेजा करोड़ों का माल,पहले से थी छापे की जानकारी।… – पर्दाफाश

पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

*EXPOSE-ब्लैकमेलिंग अवैध उगाही से कोठी भरने वाले ADG (IPS)जीपी सिंह को हिरासत में लेने का उड़ रहा हल्ला: आधी रात अपने ही ADG का बंगला पुलिस ने घेरा, इधर छापे का वारंट निकला उधर इस IPS ने करीबियो के पास भेजा करोड़ों का माल,पहले से थी छापे की जानकारी।…

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

जीपी सिंह को हिरासत में लेने का हल्ला: आधी रात अपने ही ADG का बंगला पुलिस ने घेरा, इधर छापे का वारंट निकला उधर IPS ने करीबियो के पास भेजा करोड़ों का माल…

 

तस्वीर शनिवार देर रात रायपुर स्थित जीपी सिंह के बंगले के बाहर की।

रायपुर ऑफिस डेस्क :- जीपी सिंह के रायपुर, राजनांदगांव, ओडिशा के 15 ठिकानों पर जारी ACB की रेड खत्म हो गई है। दावा है कि अवैध ढंग से कमाई गई 10 करोड़ की प्रॉपर्टी के सबूत मिले हैं। मगर इस हाईप्रोफाइल केस में ड्रामा, सस्पेंस और एक्शन का सिलसिला जारी है।


शनिवार की रात ये बात की चर्चा जोरों पर थी कि आधी रात के अंधेरे में ACB की टीम IPS को किसी सेफ जगह ले जा सकती है पूछताछ के लिए। इस चर्चा को तब और हवा मिली जब अचानक 4 सफेद स्कॉर्पियो गाड़ियों में खाकी वर्दी में डेढ़ दर्जन पुलिस जवान और 4 इंस्पेक्टर की टीम अपने ही ADG का बंगला घेर लिया।
हालांकि अब तक जीपी सिंह को न ही हिरासत में लिया गया ना ही पूछताछ के लिए किसी और जगह ले जाया गया। आधी रात जो कुछ हुआ पढ़िए इस रिपोर्ट में।
वर्दी में बंगले के बाहर पुलिस का पहरा।

हर आने-जाने वाले पर नजर रखो, फोन का इस्तेमाल नहीं करना है।
ACB की गाड़ियों का काफिला जैसे ही पुलिस लाइन पेंशन बाड़ा स्थित जीपी सिंह के घर से गया। कुछ देर बाद बाइक पर सिविल ड्रेस में पुलिस के कुछ जवान जीपी सिंह के घर के चारों तरफ मंडाने लगे। रात करीब 10 बजे कुछ कारें पहुंंची।
इनमें 4 थानों के इंस्पेक्टर और उनके साथ कुछ वर्दीधारी जवान थे। सबने बंगले के पास एक अंधेरे कोने में मीटिंग की। इसके बाद चार टीमों में बंटकर सब अगल हो गए। कुछ बंगले के पीछे पहुंचे तो कुछ ने सामने और दाएं-बाएं निगरानी का जिम्मा संभाला।
ACB का काफिला लौटा तो पहुंची पुलिस की गाड़ियां।

करीब रात 11 बजे तक पुलिस लाइन से डेढ़ दर्जन वर्दी वाले जवानों को बुलवाया गया। इनमें दो लेडी कॉन्स्टेबल भी थीं। सभी से एक इंस्पेक्टर ने कहा कि इस बंगले पर नजर रखनी है। बाहर से आने वाले और यहां से बाहर जाने वालों को रोकना है। हर एक्टिविटी पर नजर रखो फोन का इस्तेमाल नहीं करना है।

निर्देश मिलते ही सभी जवानों ने पोजिशन ले ली और अब जीपी सिंह का बंगला पुलिस ने चारों तरफ से घेर लिया था। बंगले के पीछे भी जवान तैनात किए गए। रविवार की सुबह इस टीम की ड्यूटी बदल दी गई, मगर निगरानी अब भी जारी है। अपने ही घर में IPS जीपी सिंह अपनी ही पुलिस से घिरे हुए हैं।
रात 2 बजे तक अफसर कंट्रोल रूम में बैठक करते रहे।
आधी रात इंटेलिजेंस के अफसर पहुंचे कंट्रोल रूम रायपुर के सिविल लाइंस स्थित कंट्रोल रूम में इंटेलिजेंस से जुड़े अफसरों की गाड़ियां नजर आईं। सूत्रों ने बताया कि आला अफसर इस पूरे मामले को लेकर बैठक कर रहे हैं।

दूसरी तरफ ACB की टीम भले ही रात के वक्त जीपी सिंह के बंगले से लौट गई थी। मगर इनके ठिकानों से मिले दस्तावेज और कंप्यूटर्स मोबाइल फोन की जांच की जा रही है। ACB की तरफ से आधिकारिक तौर पर कहा गया है कि इस केस में अवैध कमाई के और खुलासे हो सकते हैं।
गुरुवार को जब ACB की टीम पहुंची तो इस ब्रीफकेस में कुछ अहम दस्तावेज लेकर जांच टीम के सदस्य बंगले में गए।

छापे से ठीक पहले करोड़ों का माल ट्रांसफर ACB की जांच टीम के अफसरों ने शनिवार देर रात आधिकारिक जानकारी देते हुए बताया कि छापे से ठीक पहले अपने कुछ करीबियों के पास करोड़ों का माल जीपी सिंह ने भेजा था। इससे ये साफ है कि जीपी सिंह को छापे की खबर लग चुकी थी।



एसबीआई सेजबहार शाखा के ब्रांच मैनेजर मणि भूषण जीपी सिंह के बेहद करीबी व्यक्ति हैं। इनके भगत सिंह चौक स्थित अपार्टमेंट की तलाशी लेने पर कुछ दस्तावेज और 1 करोड़ की 2 किलो सोने की पट्टियां मिली। पूछताछ में मणि भूषण ने बताया कि हाल ही में जीपी सिंह ने उन्हें कुछ दिनों के लिए रखने को कहा था।
रात में बंगले के भीतर की गतिविधियों पर पुलिस इंस्पेक्टर बाहर से नजर रखने की कोशिश में।

कारोबारी प्रितपाल सिंह चंडोक के बेडरूम से 13 लाख रुपए के बंडल मिले पूछताछ में प्रितपाल सिंह ने कहा कि 30 जून की रात यह रकम आनन-फानन में इनके घर लाई गई है, इस बात की भी पुष्टि हुई कि ये पैसे जीपी सिंह के ही हैं।

जीपी सिंह के घर छापा 1 जुलाई की सुबह पड़ा था। इसके अलावा 2 जुलाई शुक्रवार को ACB की तरफ से जारी की गई जानकारी में ये भी बताया गया कि जीपी सिंह के घर पर लगे CCTV का DVR गायब है। जो अब तक किसी को मिला ही नहीं।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

May 2024
M T W T F S S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031