नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 97541 60816 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , *खाखी का रौब दिखाकर बेगुनाह महिला अधिकारी को जेल दाखिल करने वाले एसपी सन्तोष सिंह सहित अन्य पर गृह मंत्रालय के कार्यवाही की लटकी तलवार।महिला अधिकारी सोनल जैन के साथ हुये अत्याचार की कहानी सुन आप भी हो जाएंगे हैरान पढ़ें पूरी खबर* – पर्दाफाश

पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

*खाखी का रौब दिखाकर बेगुनाह महिला अधिकारी को जेल दाखिल करने वाले एसपी सन्तोष सिंह सहित अन्य पर गृह मंत्रालय के कार्यवाही की लटकी तलवार।महिला अधिकारी सोनल जैन के साथ हुये अत्याचार की कहानी सुन आप भी हो जाएंगे हैरान पढ़ें पूरी खबर*

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

*🔥महिला सब इंजीनियर को प्रताड़ना मामले में रायगढ़ एसपी संतोष सिंह,टीआई विवेक पाटले,सहित जिला जेल के जेलर डहरिया पर गिरी कार्यवाही की गाज

*खाखी का रौब दिखाकर बेगुनाह महिला अधिकारी को जेल दाखिल करने वाले एसपी सहित अन्य पर गृह मंत्रालय के कार्यवाही की लटकी तलवार।*

*महिला अधिकारी सोनल जैन के साथ हुए अत्याचार की कहानी सुनकर आप भी हो जाएंगे हैरान*

*रायगढ़ जिले में भ्रष्ट अधिकारियों के रहते बेटियां नही है महफूज़:सोनल जैन*

*रायगढ़ जिले में बेटियों की सुरक्षा पर फिर उठे सवाल,खाखी हुई दागदार*

रायपुर-

विधायक प्रतिनिधि अरुण शर्मा राजनैतिक पकड़ की धोष दिखाकर महिला सहायक अभियंता सोनल जैन से मनमानिक कार्य करने दबाव बनाता था और महिला अधिकारी से अश्लील हरकत करते हुए डयूटी के दौरान जनपद कार्योलय बरमकेला पहुचकर बदसलूकी करता था जिसकी शिकायत महिला अधिकारी के द्वारा उच्चाधिकारियों सहित पुलिस थाना में लिखित में किया गया। जिस पर विधायक प्रतिनिधि अरुण शर्मा के विरुद्ध पहले तो मामला दर्ज करने में आनाकानी किया जाता रहा। बाद में महिला अधिकारी के पत्राचार एवं मामला मीडिया में आने के बाद अरुण शर्मा के विरुद्ध छेड़छाड़ का मामला तो दर्ज कर लिया गया लेकिन मामले को राजनैतिक रंगत देते हुए महिला अधिकारी को एसटीएससी एक्ट के प्रकरण में फसाने का षड्यंत्र किया जाने लगा।

जब अरुण शर्मा के विरुद्ध दर्ज छेड़छाड़ के मामले में पीड़िता महिला अधिकारी को धारा 164 के तहत बयान के लिए न्यायालय में उपस्थित होने के लिए नोटीस जारी किया गया तो अरुण शर्मा के गुर्गों के द्वारा महिला अधिकारी को न्यायालय में उपस्थित होने से रोकने,गाली गलौच एवं मारपीट किया गया था।

जिसकी शिकायत को लेकर आरोपी अरुण शर्मा के गिरफ्तारी के लिए मांग करने एवं अपनी सुरक्षा की गुहार लगाने के लिए महिला अधिकारी सोनल जैन रायगढ़ 15 अगस्त 2020 को स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल बतौर मुख्यतिथि संसदीय सचिव श्रीमति रश्मि सिंह से मुलाकात कर ज्ञापन सौपने पहुची थी।

जैसे ही अरूण शर्मा रायगढ़ पुलिस कप्तान संतोष सिंह एवं रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक को इसकी भनक लगी तो महिला सब इंजीनियर सोनल जैन की उपस्थिति रायगढ़ एसपी को नागवार गूजरी। उन्होंने तत्काल चक्रधरनगर थाना प्रभारी विवेक पाटले को मौखिक निर्देश देते हुए उक्त महिला इंजीनियर को पंद्रह अगस्त आजादी के दिन तत्काल गिरफ्तार करते हुए हिरासत में लेने निर्देश दिया जिस पर मौके पर उपस्थित तत्कालीन नायब तहसीलदार एवं चक्रधर नगर थाना प्रभारी विवेक पाटले ने अपने मातहत कर्मचारियों के साथ मिलकर महिला सब इंजीनियर सोनल जैन को तत्काल हिरासत में लेकर मारपीट करते हुए कार्यक्रम स्थल मिनी स्टेडियम रायगढ़ से चक्रधर नगर थाना ले गए जहाँ लॉकअप में खूब मारपीट किया गया।महिला उप अभियंता सोनल जैन ने अपने शिकायत में इसका उल्लेख किया है।

सोनल जैन ने मीडिया को बताया कि जब इन अधिकारियों का मन नही भरा तो अपने आका रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक को खुश करने के लिए मुझ पर उल्टे शासकीय कार्यो में बाधा उत्पन्न करना बताते हुए आईपीसी की धारा 151 के तहत कार्यवाही करके आजादी के दिन 15 अगस्त को ही रायगढ़ जिला जेल में दाखिल कर दिया गया।

सोनल जैन ने बताया कि प्रभारी जेल अधीक्षक एन.के डहरिया एवं जिला जेल में पदस्थ महिला जेल प्रहरियो के द्वारा चौबीस घण्टो तक जेल परिसर में ही सोनल जैन को अमानवीय यातना देते हुए खूब मारपीट किया गया था जिसकी शिकायत भी उनके द्वारा जेल से रिहा होने के बाद उच्चाधिकारियों से की गई है पर अब तक कोई कार्यवाही नही हुई है।

आरोपों के आधार पर अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले सोनल जैन को उल्टा झूठा कार्यवाही कर निलबिंत किया गया ऐसे में भला बेटी बचाव बेटी पढ़ाव के लिए देश मे सम्मानित रायगढ़ जिला में बेटियां कितनी महफूज़ है यह सवाल खड़ा होना लाज़मी है।

सोनल जैन ने मीडिया को रायगढ़ पुलिस कप्तान सहित अन्य दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही हेतु छत्तीसगढ़ शासन गृह मंत्रालय से जारी आदेश की प्रति उपलब्ध कराते हुए कहा कि देर से ही सही लेकिन अंततः सत्य की ही जीत होती है।

कहने को तो रायगढ़ जिला बेटी बचाव बेटी पढ़ाओ अभियान के लिए राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर अनेको बार सम्मानित हो चुका है लेकिन रायगढ़ पुलिस कप्तान जैसे जिम्मेदार पद पर आसीन संतोष कुमार सिंह के द्वारा महिला उप अभियंता सोनल जैन पर अपने मातहत कर्मचारियों के माध्यम से किए गए प्रताड़ना के खिलाफ छग शासन गृह मंत्रालय द्वारा जारी आदेश से एक बार फिर जहाँ खाखी पर दाग लगा है वही रायगढ़ जिले में बेटियों की सुरक्षा पर सवाल खड़े होने लगें है।सोनल जैन ने गृह मंत्रालय के कार्यवाही पर भरोसा जताते हुए कहा कि छेड़छाड़ एवं अश्लील हरकत करने वाले रायगढ़ विधायक के प्रतिनिधि अरुण शर्मा एवं उसके गुर्गो पर कार्यवाही के बजाए संरक्षण देने वालो पर अब कार्यवाही की गाज गिरने पर भविष्य में किसी भी आरोपी को बचाने अथवा फरियादी को फसाने से पहले जांच एवं विवेचना अधिकारियों को सोचने मजबूर होना ही पड़ेगा या ऐसे ही झूठे मामलो में फंसाने चरित्र हत्या करने का दौर चलता ही रहेगा यह तो अब वक्त ही बतायेगा।

 

आरती वैष्णव

एडिटर इन चीफ

पर्दाफ़ाश न्यूज

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930