नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 97541 60816 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , *🎯छोटी मछलियों पर कार्यवाही बड़े मगरमछ पर कार्यवाही कब तक?नजरें इधर भी इनायत करें डीजीपी महोदय। – पर्दाफाश

पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

*🎯छोटी मछलियों पर कार्यवाही बड़े मगरमछ पर कार्यवाही कब तक?नजरें इधर भी इनायत करें डीजीपी महोदय।

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

*🎯छोटी मछलियों पर कार्यवाही बड़े मगरमछ पर कार्यवाही कब तक?नजरें इधर भी इनायत करें डीजीपी महोदय।*

*लंबे समय से बेख़ौफ़ अवैध शराब का कारोबार जारी है। लेकिन छोटे कर्मचारियों पर कार्यवाही एवं प्रमुख जिम्मेदार को क्लीनचिट कब तक चलेगा?*

*🎯आखिर किसके सरपरस्ती पर चल रहा है ये अवैध कारोबार? जिसके संरक्षण से ये सारा कारोबार जारी है उससे कौन सा प्रश्न पूछा गया रायगढ़  जिले की जनता यह भी जानना चाहती है ? वैसे खुफिया सूत्रों की माने तो ये सब उन बड़ी मगमच्छ के संरक्षण में चल रहा है जो समय समय पर खुद की भी पीठ थपथपाने से परहेज नही करते है जिसके इशारे पर मातहत नाचते हैं जो खुद को साफ सुथरा सिंघम अधिकारी मानते है जी हाँ वही लोगो को झूठे मामलों में फंसाने वाले वो दोनो मगरमच्छतान ! आज की यह कार्यवाही सराहनीय है पर संतोषप्रद नही डीजीपी महोदय।नजरें और इनायत करें जो प्रमुख जिम्मेदार है उनके संरक्षण के बिना क्या ये सम्भव है?आप इजाज़त दें हम हर दिन ऐसे सैकड़ो मामले आपके सामने रख दें।*

*🎯कब तक बड़े मगरमच्छो पर कार्यवाही को रोका या टाला जायेगा।यह सिर्फ एक या दो थानों की बात नही यहाँ तो पुरे जिले में ही अवैध शराब का कारोबार जोरों पर चल रहा है गुप्त सूत्रों व कुछ पुलिसिया सूत्रों की माने तो इनके बड़े आकाओं के द्वारा ही इस कारोबार को प्रश्रय दिया जा रहा है,लेकिन कार्यवाही हमेशा मात हत कर्मचारियों पर होती है बड़े मगरमच्छ तो आज भी सुरक्षित है।तो कुछ को शो काज पकड़ा दिया गया है जबकि रायगढ़ जिले में लॉकडाउन के समय से यह अवैध कारोबार पूरे जिले में चरम सीमा पर जारी है।*

*🎯रायगढ़ जिले के एकमात्र दमदार कर्त्तव्य निष्ठ वरिष्ठ पत्रकार भूपेंद्र किशोर वैष्णव जी ने इस पूरे खेल का खुलासा भी किया बड़े अधिकारी के रूप में बैठे पुलिस कप्तान को अवगत भी कराया बिलासपुर ig को भी बताया गया परन्तु माफियाओ पर कार्यवाही के बजाय उल्टे उक्त कर्तव्यनिष्ठ निर्भीक पत्रकार पर ही एक नही 4-4 झूठे केस दर्ज कर दिए गए क्योकी वह पत्रकार इनकी सच्चाई सोशल मीडिया में अपने खबर के माध्यम से उजागर किया था,तदुपरांत रायगढ़ कप्तान के इशारे पर और कुछ मातहत अधिकारीयों से मिलीभगत  कर पत्रकार के खिलाफ षड्यंत्र कर अपने मोहरे खड़े कर झूठे 4-4 fir दर्ज करवा दिये गए जिससे पत्रकार उलझ जाए और उसे जेल में बंद कर उसकी आवाज दबा दी जाए।कुछ लोगो ने मोहरा बनने से मना कर दिया तो इनके द्वारा थाना के स्टाफ आरक्षको को ही झूठी fir लिखवाने विवश किया गया।वही अपने कर्तव्य छेत्र में पत्रकारिता कर रहे पत्रकार जो जनप्रतिनिधियों को सेनेटाइजर और मास्क देने पहुचे थे उनपर अपने पद का दुरूपयोग करते हुए फर्जी लॉकडाउन का भी केस दर्ज कर दिया गया।घर बैठी पत्नी जो अपने बच्चे के जन्मदिन का केक बना रही थी उस पर भी झूठे fir कर दिए गए सिर्फ अपना अवैध कारोबार निर्बाध गति से चलाने के लिए।*

*🎯ये सब इसलिए क्योंकि इस पत्रकार ने इनकी काली करतूतों को अपनी खबरों के माध्यम से उजागर किया था,माफियाओं को संरक्षण देते हुये इनकी पुरी प्लानिंग खरसिया के रेस्ट हाउस में हुई थी जहां रात में शराब पार्टी और षड्यंत्र का मंथन हुआ था पत्रकार को जेल भेज कर ये अपने अवैध कारोबार को निरन्तर आगे बढ़ा सकें क्योकि पुरे जिले में जमीनी मुद्दों पर लिखने वाला एकलौते पत्रकार अगर कोई है तो वो भूपेंद्र वैष्णव ही है।इस तरह ये जिले के कथित चाय नास्ता वाले पत्रकारों को डरा सकेंगे भूपेंद्र वैष्णव से तो डर भी डरता है।वे हमेशा सच लिखने वाले ईमानदार पत्रकार है pro और dsr के भरोसे रहने जीने वाले टेबल न्यूज शो पीस टाइप पत्रकार नही है!*

*🎯डीजीपी महोदय अवैध कारोबार अवैध शराब विक्रय के खेल में जिले के इस बड़े मगरमछतान का हाँथ है जिसके खिलाफ कोई लिखता है तो उसे वह झूठे मामलो में अपने पद का दुरुपयोग कर फंसा देता है वह माफियाओ का कवच बनकर खड़ा हुआ है माफियाओं नेताओं दलालों चाटुकारों को खुश करने के कारण वो एक अधिवक्ता की लायसेंस रद्द करवाने भी पत्राचार करता है मासूम बच्चों को भूखे रहने मजबूर करता है।माफियाओं के लिए सभ्रांत परिवार के लोगों को डकैत, ब्लेकमेलर, फर्जी और न जाने क्या क्या बना रहा है अपने रास्ते से हटाने के लिए उक्त पत्रकार के लिए  जिला बदर तक कि कार्यवाही उक्त जिम्मेदार अधिकारी द्वारा करवाया गया और जिलाबदर के बाद भी हजारों षड्यंत्र यहां तक कि हत्या करवाने की धमकियां भी दी जा रही है,हजारो झूठे मामले दर्ज करने की धमकियां भी दि गई है।

भ्रष्ट अधिकारी को तत्काल बर्खास्त कर बडी कार्यवाही करनी चाहिए जिनके गलत कारनामो के कारण छोटी मछलियों के ऊपर कार्यवाही हो रही है उसके हाँथ ही सारे अवैध कारोबार संचालित हो रहें हैं।कार्यवाही इन पर होनी चाहिए।*

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

May 2024
M T W T F S S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031