नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 97541 60816 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , खनन माफिया कर रहे ग्राम सेमीपाली पहाड़ की छाती को तार तार – पर्दाफाश

पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

खनन माफिया कर रहे ग्राम सेमीपाली पहाड़ की छाती को तार तार

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

खनन माफिया कर रहे ग्राम सेमीपाली पहाड़ की छाती को तार तार

*यहाँ प्रतिदिन सैकड़ों टन गिट्टी का हो रहा अवैध उत्खखन,वनविभाग वाले बने बैठे हैं अनजान*

*धरमजयगढ़ ब्यूरो रिपोर्ट असलम इरशाद खान* –


धरमजयगढ़ एक्सक्लूसिव – जंगलों से बेशकीमती लकड़ियों की अवैध कटाई और तस्करी के मामले में कुख्यात हो चुके धरमजयगढ़ वन मंडल क्षेत्र के पहाड़ी इलाके भी अब माफियाओं की गिरफ्त में है।आये दिन जहाँ लकड़ियों की अवैध कटाई और तस्करी की खबरें अखबारों की सुर्खियाँ बनती रही है। वहीं माफियाओं का गिरोह अब क्षेत्र के पहाड़ों को अपनी तीरे निगाहे नाज़ का निशाना बना रहे हैं।

आपको बता दें यह खेल कोई हाल फिलहाल में शुरू नहीं हुआ है, बल्कि मौका मुआयना से पता चलता है, कि काफी लम्बे समय से पहाड़ी इलाके से गिट्टी के अवैध उत्खनन का काम किया जा रहा है।
धरमजयगढ़ के कुछ ही दूरी पर पहाड़ी इलाके में सेमीपाली गाँव स्थित है जो लक्ष्मीपुर ग्राम पंचायत का आश्रित ग्राम है। सेमीपाली गाँव तक पहुंचने वाली पगडण्डी पर गुजरने से ही वहाँ से सैकड़ों टन गिट्टी के अवैध उत्खनन का नजारा देखने को मिलता है। पगडण्डी के किनारे और जंगल के भीतर कई टन गिट्टी खोदकर रखा गया है। वहीं वनों की सुरक्षा के जिम्मेदारों को इसकी भनक तक नहीं है।
हालांकि वन परिक्षेत्र अधिकारी का रटे रटाये जवाब दिया जाना कि ” उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है” आसानी से गले नहीं उतरती है।
और यदि वाकई में उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है, तो इसका सीधा मतलब निकाला जा सकता है कि, वनों की सुरक्षा के लिए फिल्ड में तैनात कर्मचारियों की जानकारी और संभवतः उनकी मिली भगत द्वारा यह पूरा गोरखधंधा फल-फूल रहा है। इस आशंका को इस बात से भी बल मिलता है, कि जब इस संबंध में जानकारी के लिए सेमीपाली के फारेस्ट गार्ड गौतम किशोर राठिया से दर्जनों बार फोन से संपर्क साधने का प्रयास किया गया बावजूद इसके, उन्होंने एक बार भी न तो फोन रिसीव किया और न ही कॉल बैक कर यह जानने की जहमत उठाई कि उनके पास इतने बार फोन कौन और किस लिए कर रहा है? खैर, वन परिक्षेत्र अधिकारी का कहना है, कि जाँच कराई जाएगी। यह जाँच कब शुरू होगी और कब पूरी होगी इसका तो भगवान ही मालिक है या विभाग ही मालिक है.बहार कैफ खनन माफिया ग्राम सेमीपाली के पहाड़ की छाती को खोद खोद कर तार तार करने में मस्त हैं.

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

February 2024
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
26272829