नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 97541 60816 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , बिजली समस्या को लेकर किसानों ने अधिकारीयों से की शिकायत – पर्दाफाश

पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

बिजली समस्या को लेकर किसानों ने अधिकारीयों से की शिकायत

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

बिजली समस्या को लेकर किसानों ने अधिकारीयों से की शिकायत

विद्युत् विभाग और वनविभाग के दो पाटों के बीच पिस रहे किसान आखिर करें तो क्या करें ?

 

असलम खान ब्यूरो हेड धरमजयगढ़

हांथी व बिजली की समस्या से परेशान धरमजयगढ़ हाटी क्षेत्र के किसानों ने हाटी सब स्टेशन बिजली विभाग व वन विभाग के हाटी सर्किल में सैकड़ों के तादाद में पहुंचकर अधिकारियों से नाराजगी जताया।प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीण किसान साफ शब्दों में अपनी परेशानी व्यक्त करते हुए अधिकारियों से सवाल दागा।कहा क्षेत्र में हांथियों की आवाजाही लगातार है इस बात से आप अनभिज्ञ नही है फिर क्यूँ रात के समय गांव में ब्लैक आउट की जा रही है ? हम किसानों पर ये जात्तीय क्यों ? फारेस्ट और विद्धुत दो विभागों के बीच हमे क्यों लटकाया जा रहा है ?

दरअसल धरमजयगढ़ वन मंडल पूरी तरह हांथी प्रभावित है जानकारी के अनुसार यहाँ हांथियों की मौत का आंकड़ा सबसे ज्यादा बिजली करंट से होना पाया गया है लिहाजा दोनो विभाग इस गंभीर मसले पर बेहद संजीदा हैं। आपको बता दें माहभर से कम समय मे धरमजयगढ़ क्षेत्र में बिजली करंट से दो हांथियों की मौत हो गई है जिसके मद्देनज़र संबंधित विभाग गांव में लगे खेती के लिए बोरपम्प लूज कनेक्शन तार पर विशेष नजर बनाएं ताकि हांथी मौत घटना की पुनरावृत्ति पर अंकुश लग सके, लेकिन
ग्रामीणों के मुताबिक दोनो विभागों के दो पाटो के बीच किसान पिस रहा है। किसानों कहना है अभी खेती का समय है जिसके लिए पानी की जरूरत है और पानी के लिए बिजली की आवश्यकता
क्षेत्र में हांथी से फसल को बचाने के लिए मचान बनाकर रखवाली कर रहे हैं ऐसे में गांव घरों में बिजली अनिवार्य है। हांथी गांव के किनारे जब आ जाता है तो जान पे बन आती है ऐसे हालातों में जब विद्धुत विभाग से बिजली गुल होने की वजह पूछते हैं तो कहा जाता है हमे वन विभाग से कहा गया है क्षेत्र में हांथी है लाइन कट कर दीजिए। और जब वन विभाग के अधिकारियों से जानना चाहते है तो जवाब आता है हमारे पास बिजली गुल कराने का ऐसा कोई आदेश निर्देश नही है बिजली विभाग वाले अपना बचाव कर रहे है।
इन मायनो में हालात साफ है किसान दो विभागों के गोल मोल जवाब के बीच फंसकर परेशान है। अलबत्ता ग्रामीणों का कहना है बेहद संवेदन इस मामले में दोनों विभाग के आलाधिकारियों को किसानों में हित मे जल्द कोई सकारात्मक फैसला लेना बेहद जरूरी हो गया.

*इस मसले पर क्या कहते हैं जिला विद्युत् अधिकारी*
इस मसले पर डीईई रायगढ़ श्री एस के साहू का कहना है की इसमें सभी की जिम्मेदारी बनती है. आमजन,मीडिया,जनप्रतिनिधि सब मिलकर कोई ऐसा विकल्प निकालें जिससे क्षेत्र में विचरण कर रहे वन्यप्राणी हाथी भी सुरक्षित रहें और बिजली समस्या के चलते कृषि कार्य भी प्रभावित ना हो.सभी को पता है क्षेत्र में हाथियों की आवाजाही लगातार जारी है वहीँ खेतों में ट्यूब वेल चलाने किसान बिजली कनेक्शन भी लिए हुए हैं.ऐसे आलम में करेंट की चपेट में आकर वन्यप्राणी की अकाल मौत ना हो इसलिए बिजली गुल करना विभाग की मज़बूरी है.खुले मंच से हम आम जनता बुद्धिजीवियों से अपील करते हैं की कोई ऐसा सुझाव हमें दें जिससे किसान को भी नुकसान ना हो और वनप्राणी भी सुरक्षित रहें.वैसे हम अस्थायी कनेक्शन को रेग्यूलाइज़ करने में लगातार लगे हुए हैं हमारे विभाग के कर्मचारी देर रात तक मेहनत कर रहे हैं.बहुत हद तक धरमजयगढ़ क्षेत्र में अस्थायी कनेक्शन को स्थायी किया गया है आगे कार्य प्रोग्रेस में है.लेकिन पूरे क्षेत्र जंगलों से घिरे हैं यहाँ स्थायी कनेक्शन के लिए भारी मात्रा में विद्युत् पोल तार अन्य आवश्यक तकनिकी मशीनरी चीज़ों की आवश्यकता पड़ रही है जिसके लिए करोङो की राशि चाहिए.अगर हमें शासन से फण्ड समय पर मिल जाये या तो वनविभाग ही फण्ड की व्यवस्था हमें कर दें तो हम सारे अस्थायी कनेक्शन को मापदंड के अनुरूप प्रॉपर हाइट देकर सारे विद्युत् कनेक्शन को रेग्युलाइज़ेशन कर सकते हैं.सारी समस्या का समाधान हो जायेगा.

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

February 2024
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
26272829