नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 97541 60816 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , 35 लाख की टंकी में एक क़तरा पानी नहीं…पानी के लिए मचा हाहाकार आखिर कौन है जिम्मेदार…? – पर्दाफाश

पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

35 लाख की टंकी में एक क़तरा पानी नहीं…पानी के लिए मचा हाहाकार आखिर कौन है जिम्मेदार…?

Featured Video Play Icon
😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

एक्सक्लूसिव स्टोरी Expose
असलम खान ब्यूरो हेड धरमजयगढ़

35 लाख की टंकी में एक क़तरा पानी नहीं…

सरपंच सचिव ,या विभागीय अधिकारी दोषी कौन ?

 

*

धरमजयगढ़- विकासखंड के अंतिम छोर पर बसे गांव ग्राम पंचायत चंद्रशेखरपुर (एडू) में छत्तीसगढ़ शासन के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी (PHE) विभाग के द्वारा 7 साल पहले पानी टंकी के साथ पाइप लाइन का निर्माण कार्य कराया गया था.निर्माण कार्य 24 अप्रैल 2013 को प्रारंभ होकर 18 दिसंबर 2014 को पूर्ण हुआ जिसकी लागत राशि लगभग 35 लाख रुपये बताया जा रहा है। यह निर्माण कार्य नल जल योजना के तहत किया गया था ।

गौरतलब है कि भीषण गर्मी के दिनों में नदी नाले सूखने लगते हैं और कुएं का जल स्तर भी घटने लगता है साथ ही गांव से महज 1-2 कि.मी. की दूरी में कोयला खदान भी है जिससे जल का स्तर यंहा काफी नीचे रहता है। जिसके फलस्वरूप गांव में पेयजल का संकट हमेशा बना रहता है। ऐसे में शासन की योजना के तहत बने इस पानी टंकी में लोकार्पण से पूर्व टंकी में से दरार होना और पाइप में जंग लगना एक गंभीर लापरवाही की तरफ इशारा कर रहा साथ ही निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर भी सवाल उठना लाज़िमी है.

आपको बता दे कि जब ग्रामीणों ने देखा कि पानी टंकी को बने कुछ ही दिन हुए है और टंकी में दरार आने लगी है तो इस घटिया कार्य और भ्रष्टाचार की शिकायत वे सम्बंधित अधिकारी से किये.जिसके बाद 2015 -16 में इस पानी टंकी का मरम्मत कार्य 4-5 लाख रुपये लागत से किया गया। जिसके बाद भी भारी विडंबना है की आज तक ग्रामवासियों को इस पानी टंकी से सुविधा प्राप्त नहीं हो सका। ग्रामवासियों का कहना है 35 लाख की टंकी से हमें एक क़तरा पानी भी नसीब नहीं हो पाया है. अधिकारियों को ग्रामीणों द्वारा बार बार कहा गया कि गांव का जल स्तर काफी नीचे है साथ ही पास में कोयला खदान है आप बोर की गहराई ज्यादा करवाइए लेकिन यंहा तो सब शासन को चुना लगाने के लिए पहले से षड्यंत्र बनाकर बस खाना पूर्ति के लिए बोर खोद दिया जाता है.यही वजह है की इसका लाभ ग्रामीणों को प्राप्त नहीं हो पाता ।

जब पानी टंकी का निर्माण हो रहा था तो ग्रामवासियों को आस था कि अब हम ग्रामवासीयो की पानी की समस्या दूर हो जाएगी पर आज 7 साल बीत जाने के बाद भी पानी टंकी से पानी की एक बून्द की भी सप्लाई नहीं हो सका जिससे ग्रामीणों के मन काफी निराश और हताश है तथा ग्रामीणों के मन में पंचायत प्रतिनिधियों के लिए एक भारी-भरकम आक्रोश देखा जा रहा है जो कभी भी बड़े विस्फोटक के रूप में बाहर आ सकता है। इतने साल हो गए फिर भी पानी की ओर पंचायत प्रतिनिधियों का ध्यान एक बार भी नहीं गया बस इन्हें अपने झूठे प्रभोलन देकर चुनाव समय जनता से वोट लेने से ही मतलब है।

*नवल राठिया युवा नेता (ग्रामीण)*:- गांव में पीने के पानी के लिए बहुत किल्लत हो रही है हमारे यहां 2013 – 14 में लगभग 35 लाख रुपए की पानी टंकी बनवाया गया है उस आज 7 साल हो गए टंकी को आज तक उपयोग में नहीं लाया गया है। पानी टंकी को पीएचई विभाग द्वारा फेल बताया जा रहा है। हर गली मोहल्ले में पानी की समस्या है आप जाकर देख सकते हैं अभी कुछ दिन पूर्व नाली को तोड़कर छोटे-छोटे पाइप बिछाया गया है मगर यहां सुविधा सिर्फ उन्हीं लोगों को दिया गया दिया गया है जो पंचायत प्रतिनिधियों के करीबी हैं उन्हीं को यह सुविधा दी जा रही है बाकी लोगों के लिए पीने का पानी एक सपना की तरह है।

*प्रदीप पटेल (ग्रामीण)* :-
गांव मोहल्ला के लोग जो
पानी पीते हैं किसी के घर में नल है तो किसी के घर में नहीं है खराब स्थिति यह है कि वे लोग गंदी नाली में पानी के बर्तन को रखकर पानी लेने को मजबूर हैं । नालियों में गंदगी बहुत ज्यादा फैली हुई है पर पानी के बूँद के लिए एक मजबूरी है ।

*बोधप्रसाद दुबे (ग्रामीण)*:- हमारे मोहल्ले में पानी की बहुत समस्या है पानी की समस्या के लिए कई बार पंच-सरपंच को बोल चुके हैं पर कोई ध्यान नहीं देते यहां पीने के पानी के लिए गंदी नाली में बर्तन को रखकर हमें पानी भरना पड़ता है और उसमें भी पानी कभी आता है तो कभी नहीं आता है घंटो- घंटो भर पानी के लिए हमें इंतजार करना पड़ता है कभी कभी तो पानी भरते भरते नल अचानक बंद हो जाता है फिर आधा बर्तन पानी लेकर ही वापस आना पड़ता है। जबकि हमारे ग्राम पंचायत में लगभग 30-35 लाख रुपए के लागत से पानी टंकी व नल कनेक्शन करवाया गया है फिर भी इसका कोई हमे लाभ नहीं, इन्हें पता है कि यह हमारा क्षेत्र कोयला खदान क्षेत्र है यहां पानी का लेवल बहुत नीचे हैं उसके बावजूद बिना जांच पड़ताल के कम गहराई का बोर खनन कर खाना पूर्ति कर मोटी रकम अपने मे डकार लिया जाता है और साथ ही बोर फेल का बहाना दे दिया जाता है। जिसका खामियाजा हम ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है

*कुमारी नीरज राठिया (सचिव)* :- पंचायत द्वारा जल की समस्या के लिए अनेकों बार उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया पर उनके द्वारा इस पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है । पानी टंकी तो है पर उसमे कहि से पानी का सप्लाय नही होने के कारण दिक्कत हो रही । जल के अभाव के कारण लोगो को यहां काफी परेशान हैं ग्रामीणों को पानी के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। हम अपने स्तर से पूरा कोशिस कर रहे है ।

*अनुविभागीय अधिकारी (लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी)* :- विभाग द्वारा ग्राम पंचायत चंद्रशेखरपुर में 2013 -14 में पानी टंकी का निर्माण कराया गया था ग्रामीणों की शिकायत पर 2015 – 16 में जिसका रिपेयरिंग भी करवाया गया था पर खदान क्षेत्र होने के कारण यहां बोर सक्सेस नहीं हो पा रहा है और जो बोर सक्सेस है उसे टंकी सप्लाई के लिए नही दिया जा रहा उसे मोहल्ले वासियों द्वारा कब्जा कर लिया गया है जिसकी जानकारी हम पंचायत को दिए है उसके बावजूद भी किसी प्रकार का पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है इसलिए टंकी में पानी सप्लाई नहीं दे सक रहे हैं। और पंचायत से हमको कोई सहयोग नही है हमने अपनी तरफ से प्रपोजल बनाकर तैयार किया हुआ है जल्द ही वहां नया बोरखनन की व्यवस्था कर पानी की सप्लाई प्रारंभ कर दिया जाएगा ।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

July 2024
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031