नाबालिग युवती से रेप का फरार आरोपी बाबूलाल अग्रवाल….तोता जेल दाखिल

*खरसिया विकास गुड़ाखु फैक्ट्री के मालिक ,नबालिग दलित युवती से रेप एवं पॉक्सो का फरार आरोपी बाबूलाल अग्रवाल(तोता) पहुंचा जेल के पिंजरे में हुआ कैद*

*⭕छत्तीसगढ़ के कद्दावर पूर्व मंत्री का रिश्तेदार 15 वर्षीय नाबालिक दलित युवती के साथ रेप मामले में लंबे समय से चल रहा था फरार⭕*

*⭕खरसिया एवँ रायगढ़ जिला पुलिस आरोपी को लंबे समय से गिरफ्तार करने में असफल रही थी-छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने मामले में आरोपी बाबूलाल की जमानत याचिका को खारिज कर दिया था⭕*

*⭕मीडिया से छुपके आत्मसमर्पण की थी तैयारी मीडिया के कैमरों में कैद हुए लंबे समय से फरार रेप के आरोपी बाबूलाल तोता⭕*

*खरसिया/ रायगढ़*

छत्तीसगढ़ के पूर्व भाजपा मंत्री एवँ वर्तमान विधानसभा अध्यक्ष के खास कांग्रेस पदाधिकारी के चाचा पर नाबालिग दलित युवती से रेप का गंभीर आरोप लगा था और यह मामला एक नाबालिक से जुड़ा था मामले में फरार चल रहे बाबूलाल अग्रवाल उर्फ तोता की अग्रिम जमानत याचिका हाईकोर्ट ने पहले ही खारिज कर दी थी। आज रायगढ़ में न्यायालय के समक्ष आत्म समर्पण किया जहां उसे जेल भेज दिया गया। इस रसूखदार बाबुलाल तोता की मुश्किलें कम होने का नाम नही ले रहा है यहां भी इन्हें जमानत मिलने की उम्मीद नही है। आज आत्मसमर्पण के बाद आज उनकी पहली रात रायगढ़ जेल में गुजरेगी।

बाबूलाल अग्रवाल एवँ परिजनों के द्वारा पीड़िता एवँ उसके परिजनों को लगातार प्रकरण वापस लेने एवँ झूठे प्रकरणों में फंसाने का आरोप भी लगा था। सामाजिक एवँ राजनीतिक संगठनों के जबरजस्त विरोध के बाद बड़ी मुश्किल से आरोपी पर रेप का मामला दर्ज हुआ था।

*⭕पुलिस पर भी आरोपी को संरक्षण दिए जाने का आरोप लग रहा था* खरसिया सहित रायगढ़ जिला पुलिस पर रेप जैसे गम्भीर मामले के आरोपी पूर्व मंत्री एवँ वर्तमान कांग्रेस नेता के रिश्तेदार को पहले तो 354(छेड़छाड़ ) का मामला दर्ज किया गया था। आंदोलन एवँ विरोध के बाद 376 एवँ पाक्सो जोड़ा गया। लेकिन आरोपी को गिरफ्तार करने के बजाय फरारी में चालान पेश करने का पूर्व में भी प्रयास किया गया। पीड़िता के पिता पर दबाव डालके हाईकोर्ट में कार्यवाही न चाहने का शपथ पत्र भी पेश कराने का आरोप लगा था। लगातार मीडिया में अपनी किरकिरी के बावजूद रायगढ़ जिले की तेजतर्रार पुलिस के द्वारा उक्त हाई प्रोफाइल रेपिस्ट को गिरफ्तार करने में कोई दिलचस्पी नही दिखाई। जब चारो तरफ से समझौते का रास्ता बंद हो गया तब सुनियोजित तरीके से आज न्यायलय के समक्ष आत्मसमर्पण की चर्चा आम जनमानस के बीच आम है।

हम आपको बता दें कि रायगढ़ जिले में खरसिया के बहुचर्चित दुष्कर्म मामले में आरोपित बाबूलाल अग्रवाल पर एक आदिवासी नाबालिग ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था। इस मामले को जोगी कांग्रेस के द्वारा जबरदस्त विरोध किया गया था और आदिवासी नाबालिक के मामले में कार्रवाई के लिए दबाव भी बनाया गया था।

यह मामला खूब तूल पकड़ा था आंदोलन हुए आदिवासी बालिका के पक्ष में राजनीतिक संगठन भी सामने आया था इसके बाद खरसिया पुलिस चौकी का घेराव किया तब जाकर खरसिया पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी के खिलाफ पुलिस ने पोस्को एक्ट सहित 376 के तहत मामला दर्ज कर लिया था,मामला दर्ज होते ही बाबूलाल अग्रवाल गिरफ्तारी के डर से फ़रार हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *