घूसखोर बीईओ का होगा निलंबन कलेक्टर ने भेजा शासन को प्रस्ताव…..

निधन के बाद शिक्षक की दुखी पत्नी व परिवार को,उनके हक के लिए आखिर क्यों देने पड़े रिश्वत??

शिक्षक के द्वारा आजीवन सेवा के बाद निधन हो जाने पर परिजनों को ये सौगात देना प्रथा है या इनकी नियतखोरी?

मानवीय संवेदनाओं को भूलते घूसखोर अधिकारियों पर हो सख्त कार्यवाही।।

खरसिया बी ई ओ भारद्वाज की शर्मनाक कृत्य।रिश्वत लेते रंगे हाँथ पकड़ाए।वीडियो वायरल।

रायगढ़ – एक दुखी महिला जिसके शिक्षक पति असमय गुजर गए,उनको उनके विभाग से जो सम्मान मिलना चाहिए वो नही मिला,बल्कि जो उनका हक था उसे भी देने के लिए रिश्वत की मांग की जाती है मजबूर महिला ने ये किया भी क्योकी उनको अपना काम बनाना था।

क्या शिक्षा सहित सभी विभागों की ये नैतिकता जायज है जो मर रहा है उसे और मार दो,जो अपने पैसे निकलवाने आये उससे उस पैसों को निकलवाने जे लिए रुपयो की जाए,रिश्वत लेने की इस प्रथा में आज इंसान इंसानियत भूलता जा रहा है इस बात की बहुत पीड़ा होती है।मजबूर महिला ने कितनी सूझबूझ से सारे मामले से रिश्वत लेने वाले बीइओ का स्टिंग करवाया।

पीड़ित महिला ने हिम्मत से हजारो लाखो लोगो के साथ न्याय किया जिनके साथ ये हो चुका है,पूर्व में शिक्षक संघ ने भी उक्त घुसघोर बी ई ओ पर हर काम के लिए रिश्वत लेने का आरोप लगाया था।पीड़िता का पी एफ, जी पी एफ, की राशि अभी तक नही मिली है साथ ही बेटे की अनुकम्पा नियुक्ति होना है जिसके लिए महिला को इनके द्वारा प्रताड़ित करने से इंकार नही किया जा सकता है।
पीड़ित पक्ष पर दबाव बनाने की बात भी सामने आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *