यूएई में मोदी के सम्मान पर पाकिस्तान में बढ़ा ग़ुस्सा: पांच बड़ी ख़बरें

मोदी, इमरान ख़ान

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संयुक्त अरब अमीरात का सर्वोच्च नागरिक सम्मान मिलने पर पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने भी अब आपत्ति जताई है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि संयुक्त अरब अमीरात को जब वो कश्मीर के हालात बताएंगे तो यूएई इस्लामाबाद को निराश नहीं करेगा.

रविवार को मुल्तान में शाह महमूद क़ुरैशी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ”हमलोगों को यह समझना चाहिए कि यूएई और भारत में द्विपक्षीय संबंध बहुत अच्छे हैं. यहां हज़ारों भारतीय काम करते हैं. हमलोग को बिना भावुक हुए अंतरराष्ट्रीय संबंधों को समझना चाहिए. हालांकि यूएई से हमलोग के भी अच्छे संबंध हैं और हमें उम्मीद है कि कश्मीर पर तथ्यों को रखेंगे तो वो हमारी बात समझेंगे.”

शनिवार को संयुक्त अरब अमीरात ने पीएम मोदी को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ ज़ायेद’ से नवाज़ा था. पीएम मोदी को यह सम्मान यूएई के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन ज़ायेद अल नाह्यान ने अबू धाबी में दिया था.

संयुक्त अरब अमीरात का कहना है कि पीएम मोदी ने दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को नई ऊंचाई दी है. पीएम मोदी को संयुक्त अरब अमीरात से सम्मान मिलने पर पाकिस्तान नाराज़ है.

पाकिस्तानी सीनेट के चेयरमैन सादिक़ संर्जानी ने इस पर आपत्ति जताते हुए यूएई का अपना दौरा रद्द कर दिया था. उन्होंने कहा कि अगर वो यूएई जाते तो कश्मीरियों का अपमान होता.

दरअसल, पाकिस्तान की कोशिश है कि भारत ने कश्मीर में जो संवैधानिक स्वायत्तता ख़त्म की है, उस पर सारे इस्लामिक देश उसका साथ दें, लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है.

पीएम मोदी शुक्रवार को संयुक्त अरब अमीरात पहुंचे थे और शनिवार को बहरीन के लिए निकल गए थे. बहरीन ने भी मोदी को ‘द किंग ऑर्डर ऑफ द रेनसां’ सम्मान से नवाज़ा.

इसे लेकर भी पाकिस्तान में विरोध हो रहा है. पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने ट्वीट कर लिखा है कि इस मुश्किल वक़्त में बहरीन कश्मीरियों और फ़लस्तीनियों का साथ दे सकता था लेकिन वो मोदी के साथ खड़ा है. हामिद मीर का कहना है कि बहरीन पाकिस्तान का कभी दोस्त नहीं हो सकता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *