SCO बैठक: डिनर टेबल पर हुआ पीएम मोदी और इमरान खान का आमना-सामना, ना बात हुई- ना दुआ सलाम…..

SCO बैठक: डिनर टेबल पर हुआ पीएम मोदी और इमरान खान का आमना-सामना, ना बात हुई- ना दुआ सलाम

साल 2001 में बने इस संगठन में भारत और पाक बरसों तक पहले डायलॉग पार्टनर रहे और अब बीते दो सालों से पूर्ण सदस्य हैं. बीते एक दशक के दौरान कई बार भारत और पाक के प्रधानमंत्री एससीओ के मंच पर आमने सामने हुए. इन मुलाकातों के नतीजे कभी नरम तो कभी गरम भी नज़र आए.

नई दिल्ली: शंघाई सहयोग संगठन यानी SCO की बैठक पर पूरी दुनिया की निगाहें लगी हुई हैं. इस बैठक में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और नरेंद्र मोदी का पहली बार आमना-सामना हुआ. आज दिन भर दुनिया के अलग अलग नेताओं के मुलाकात के बाद पीएम नरेंद्र मोदी विशेष डिनर में पहुंचे. इस डिनर में पाकिस्तान के पीएम इमरान खान भी मौजूद थे. दोनों नेता एक ही टेबल पर बैठे थे, जानकारी मुताबिक दोनों के बीच सिर्फ चार कुर्सियों का ही फासला था.

दोनों नेताओं के एक ही मेज पर होने के बावजूद दोनों के बीच ना तो किसी तरह की बातचीत हुई और ना ही हाथ मिलाया गया. जानकारी के मुताबिक दोनों नेता एक ही समय पर डिनर हॉल में दाखिल हुए. प्रधानमंत्री मोदी और प्रधानमंत्री इमरान खान ने दुसरे नेताओं से बातचीत की लेकिन एक दूसरे के मुखातिब नहीं हुए. डिनर के बाद दोनों सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी साथ थे मगर वहां भी कोई बात नहीं की.

दरअसल भारत की ओर से ये पाकिस्तान को स्पष्ट संदेश है कि जब तक वो आतंकवाद पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं करता तब तक किसी भी तरह की कोई बातचीत संभव नहीं है. यह डिनर करीब 40 मिनट तक चला, प्रधानमंत्री मोदी के लिए खासतौर पर शाकाहारी खाने की व्यवस्था की गई थी.

इससे पहले चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंक के साथ मुलाकात में भी पाकिस्तान के मुद्दे पर चर्चा हुई लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने साफ कहा कि इस तरह के माहौल में पाकिस्तान से बातचीत संभव नहीं है. इसके बीछे जो वजह बताई जा रही है कि पाकिस्तान के सामने जो पहले से मुद्दे उठाए गए थे उन पर पाकिस्तान ने कोई ठोस कदम नहीं उठाए.

बैठक के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने संवाददाताओं से कहा कि दोनों नेताओं के बीच हुई बातचीत में पाकिस्तान पर संक्षिप्त चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के संबंध में भारत का रुख समान है और वह पड़ोसी देश के साथ शांतिपूर्ण संबंध चाहता है. गोखले ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति शी से कहा कि उन्होंने पाकिस्तान के साथ संबंधों में सुधार के लिए कदम उठाए थे, लेकिन उन सभी पर पानी फेर दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *