वीडियो वायरल होने……… विवाद गहराने पर डॉ सौरभ अग्रवाल ने दिया इस्तीफा…..

वीडियो वायरल होने एवं विवाद गहराने पर डॉ सौरभ अग्रवाल ने दिया इस्तीफा

 

खरसिया सिविल अस्पताल में बतौर हड्डी रोग विशेषज्ञ पदस्थ संविदा डॉक्टर सौरभ अग्रवाल के द्वारा खरसिया विधानसभा युवा कांग्रेस के अध्यक्ष मुकेश वैष्णव राजा से वीडियो बनाकर वायरल कर दो जाओ मंत्री को मेरी शिकायत कर दो कहना पड़ा महंगा जब एक्शन में आए खरसिया के युवा विधायक एवं रायगढ़ जिले के प्रभारी मंत्री उमेश पटेल जिला प्रशासन को कड़े निर्देश देने एवं डॉक्टर सौरभ के इस व्यवहार एवं हरकत को लेकर लगाई फटकार तब जिले के अधिकारियों ने डॉक्टर सौरभ से मांगा इस्तीफा डॉ सौरभ अग्रवाल खरसिया के द्वारा खरसिया सिविल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ सजन अग्रवाल को दीया अपना इस्तीफा हालांकि डॉ सौरभ अग्रवाल के द्वारा खरसिया सिविल अस्पताल में प्रभारी मंत्री उमेश पटेल जिला कलेक्टर यशवंत कुमार एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी एसएन केसरी के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान ही इस्तीफा प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को दे दिए जाने की बात बताई है लेकिन खरसिया अस्पताल के प्रभारी डॉ सजन अग्रवाल के आग्रह पर अपनी सेवा देने की बात बताई है ।

 

अब जब कि वीडियो वायरल होने के बाद मामले में प्रभारी मंत्री उमेश पटेल ने कड़े तेवर दिखाए तब सौरभ अग्रवाल के द्वारा अपने इस्तीफे की पुष्टि की गई उनके परिजनों के द्वारा सोशल साइट ट्विटर पर पोस्ट के माध्यम से खरसिया के विधायक एवं प्रभारी मंत्री उमेश पटेल सहित उनके चमचों के द्वारा डॉक्टरों को अनावश्यक परेशान करने का आरोप संबंधित वित्त छत्तीसगढ़ सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल स्वास्थ्य मंत्री टीएससी देव सहित केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन एवं पीएमओ को भी टैग किया गया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार डॉ सौरभ अग्रवाल के भाई राहुल अग्रवाल के द्वारा अपने ट्विटर पर यह पोस्ट किया गया है साथ ही राहुल अग्रवाल के द्वारा एक अन्य पोस्ट में प्रभारी मंत्री उमेश पटेल के द्वारा खरसिया सिविल अस्पताल में पदस्थ महिला चिकित्सक को भी डांट फटकार लगाए जाने एवं उसका ऑडियो खुद के पास उपलब्ध होने की बात लिखी है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार निजी क्लीनिक में पथरी निकालने के दौरान महिला का किडनी निकालने वाले एवं जांच के फेर में फंसे सरकारी डॉक्टरों के ऊपर जब प्रशासन कठोर कार्यवाही करने के मूड में है ऐसे में खरसिया सिविल अस्पताल में पदस्थ अन्य संविदा डॉक्टरों के द्वारा भी अपने पद से इस्तीफा दिए जाने की बातें अंदर खाने से आ रही हैं कहीं लंबे समय से सिविल अस्पताल में जमे एवं खुद की निजी दुकान चलाने वाले स्थापित डॉक्टरों के द्वारा खरसिया सिविल अस्पताल की व्यवस्था को बर्बाद करने अंदरुनी रणनीति तो नहीं बनाई जा रही है यह भी जांच का विषय है फिलहाल सोशल मीडिया में बिच्छू का डंक मारने पर इलाज कराने आए सीनियर सिटीजन एमडी वैष्णव एवं उसके पुत्र युवा कांग्रेस विधानसभा खरसिया के अध्यक्ष मुकेश वैष्णव के साथ डॉ सौरभ अग्रवाल की कहासुनी का परिणाम सौरभ अग्रवाल का इस्तीफा दिया जाना खरसिया में चर्चा का विषय बना हुआ है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *