जिले के विकास कार्य प्राथमिकता की श्रेणी में-प्रभारी मंत्री श्री पटेल सीएसआर मद से होगा शिक्षा, स्वास्थ्य एवं जनकल्याणकारी कार्य

जिले के विकास कार्य प्राथमिकता की श्रेणी में-प्रभारी मंत्री श्री पटेल
सीएसआर मद से होगा शिक्षा, स्वास्थ्य एवं जनकल्याणकारी कार्य
उद्योग संचालक अपने क्षेत्रों में विकास कार्य के लिए प्रस्ताव बनाकर जिला प्रशासन को करें प्रस्तुत
रायगढ़, 31 मई 2019/ उच्च शिक्षा, कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्री उमेश पटेल ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिले के उद्योग संचालकों की बैठक लेकर सीएसआर के कार्यों की विस्तार से समीक्षा की। इस अवसर पर कलेक्टर श्री यशवंत कुमार, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती चंदन संजय त्रिपाठी, खनिज विभाग के उप संचालक श्री एस.एस.नाग, सभी उद्योगों के सीएसआर प्रभारी उपस्थित थे। उन्होंने संचालकों से विगत पांच वर्षो के अंतर्गत सीएसआर के तहत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में हुए विकास कार्यों के बारे में एक-एक करके जानकारी लेकर जवाब-तलब किया और उद्योग संचालकों के द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं देने के कारण नाराजगी व्यक्त की।
प्रभारी मंत्री श्री उमेश पटेल ने कहा कि जिले का विकास कार्य हमारी प्राथमिकता की श्रेणी में है। उन्होंने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, निर्माण कार्य एवं जनकल्याणकारी कार्यों के लिए प्रस्ताव बनाकर जिला प्रशासन के पास प्रस्तुत करें, ताकि प्राथमिकता के श्रेणी में विभिन्न विकास कार्यों को पूर्ण कराया जा सके। उन्होंने खनिज अधिकारी को विगत पांच वर्षो के दौरान उद्योग विभाग के द्वारा कराए गए सीएसआर के कार्य में स्वीकृत, अस्वीकृत लागत इन सबकी जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है। उन्होंने संचालकों को अवगत कराते हुए कहा कि जिला प्रशासन के बिना अनुमति से कराए जाने वाले कार्येां की गणना सीएसआर में नहीं होगी, इसके लिए उद्योग प्रबंधक स्वयं जिम्मेदार है।
प्रभारी मंत्री श्री उमेश पटेल ने कहा कि उद्योग संचालक अपने क्षेत्रों में कराए जाने वाले कार्यों की जानकारी प्रशासन को दें, ताकि स्वीकृत कार्यों की सतत् निगरानी की जा सके। ताकि गुणवत्तायुक्त कार्यों का संचालन हो सके। उन्होंने कहा कि खनिज न्यास निधि के तहत ग्राम पंचायतों एवं लोगों की आवश्यकता को देखते हुए गांवों में मुक्तिधामों के निर्माण कार्यो को कराया जाएगा ताकि ग्रामवासी इसका उपयोग कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *