🛑खरसिया बना आईपीएल सट्टेबाजों के लिए स्वर्ग……..

*🛑खरसिया बना आईपीएल सट्टेबाजों के लिए स्वर्ग*

*♦खरसिया छत्तीसगढ़ प्रदेश की आर्थिक राजधानी के रूप में जाने जाने वाला खरसिया शहर इन दिनों पूरी तरह आईपीएल क्रिकेट सट्टा के गिरफ्त में है । प्रतिदिन क्रिकेट सट्टेबाजों के द्वारा करोड़ों रुपए का सट्टा आईपीएल क्रिकेट में लगाया जा रहा है। ऐसा नहीं कि सट्टेबाजों के नाम एवं उनके ठिकानों के बारे में खरसिया पुलिस को कोई जानकारी नहीं या खुफिया तंत्र उनसे परिचित नहीं है। बल्कि आईपीएल सट्टेबाजों को संरक्षण देने का काम है इन खाकी वर्दी धारियों द्वारा किए जाने की चर्चा इन दिनों खरसिया के चौक चौराहे में आम है। पुलिस विभाग के कर्मचारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि खरसिया के वर्तमान एसडीओपी एवं थाना प्रभारी के द्वारा बकायदा खरसिया में आईपीएल एवँ अन्य सट्टेबाजों को बुलवा करके उन से पूर्व में दी जाने वाली बख्शीश की जानकारी लेकर बढ़ती महंगाई को कारण बताते हुए उसे दोगुना करने कहा गया है । साथ ही खरसिया में अवैध कबाढ़ का कारोबार करने वाले कारोबारियों को भी बुला करके प्रतिमाह उनको खर्चा जमा करने कहां गया है। यही कारण है कि खरसिया में लंबे समय से सट्टा का अवैध कारोबार करने वाले विक्की अग्रवाल खरसिया सहित अन्य नामी सट्टेबाजों एवं क्रिकेट सट्टेबाजों तक खरसिया पुलिस के हाथ इन सट्टेबाजों के गिरेबान तक नहीं पहुंच सके हैं। खरसिया शहर में स्टेशन चौक कंस्ट्रक्सन कम्पनी का कार्यलय खोलके समाज सेवा की आड़ में आईपीएल सट्टा एवं अन्य सट्टेबाजों को संरक्षण एवं फाइनेंस करने वाले कुख्यात मास्टरमाइंड तक भी पुलिस आज तक नहीं पहुंच पाई है।

आईपीएल सट्टा खेलने एवं खिलाने वालों के लिए खरसिया शहर इन दिनों स्वर्ग साबित होता नजर आ रहा है। खरसिया के पुरानी बस्ती में अर्जुन राठौर के द्वारा बकायदा तीमंजिले मकान पर बेखौफ आईपीएल क्रिकेट सट्टेबाजों की महफिल सजती है। जहां खरसिया के समीपस्थ ग्राम महका के सट्टेबाज रिकेश राय एवं रवि साथ मिलकर लोगों के सट्टे का गेम नोट करते एवं उन्हें भाव देते हैं। बेखौफ तरीके से खरसिया में आईपीएल सट्टे का संचालन कर रहे हैं पुलिस सूत्रों की मानें तो खरसिया एसडीओपी के द्वारा बकायदा बीते दिनों आईपीएल सट्टेबाजों साधारण सट्टेबाजों एवं अवैध कबाड़ कारोबारियों को बुलवा करके समय पर नजराना पहुंचाने के लिए आदेशित किया गया है। सट्टेबाजों ने मीडिया को बताया कि वर्तमान में घाटे के कारोबार में चलने वाले इन सट्टेबाजों के द्वारा खरसिया चौकी थाना एवं एसडीओपी को बकायदा एक निश्चित रकम पहुंचाने का काम अपने मातहतों के माध्यम से किया जाता है। यही कारण है कि प्रदेश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले खरसिया में प्रतिदिन करोड़ों रुपए का सट्टा का दाव लगाया जाता है । खरसिया के गोविंद कॉलोनी में रहने वाले सतीश अग्रवाल उर्फ भूरु के द्वारा भी क्रिकेट आईपीएल सट्टे के कारोबार को बेखौफ अंजाम दिया जा रहा है। लेकिन ना जाने इन आईपीएल सट्टेबाजों पर कार्यवाही करने में आखिर खरसिया पुलिस के हाथ पांव क्यों कांप रहे हैं या यूं कहें जब सैंया भए कोतवाल तो डर काहे का यही कारण है कि आईपीएल सट्टा के संबंध में खबर प्रकाशित अथवा प्रसारित करने पर इन सट्टेबाजों के द्वारा बेखौफ पत्रकारों को अंजाम भुगतने की धमकी भी दी जाती है। प्रदेश के सीएम के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के पुलिस कप्तानों को सट्टा एवं अवैध कारोबारियों को समूल नष्ट करने निर्देश जारी किया जा चुका है। इसके बावजूद प्रतिदिन करोड़ों रुपए का क्रिकेट सट्टा खिलाने वाले इन सट्टेबाजों के गिरेबान तक पुलिस का नहीं पहुंच पाना इनके अंदरूनी सांठगांठ को दर्शाता है । यदि समय रहते इन सट्टेबाजों पर ठोस कार्रवाई नहीं की गई तो वह दिन दूर नहीं जब कैंसर की तरह आईपीएल सट्टा की गिरफ्त में खरसिया का युवा वर्ग अपने घर परिवार की गाढ़ी कमाई को बेचकर के कर्ज तले आत्महत्या करने को मजबूर हो जाएगा। खरसिया शहर के बीचो-बीच स्थित विभिन्न पान सेंटरो एवं दुकानों के माध्यम से बकायदा सट्टे का यह काला कारोबार संचालित किया जा रहा है। इसके लिए बकायदा मोबाइल के माध्यम से खिलाड़ियों से गेम लेने एवं भाव देने का काम किया जा रहा है। बकायदा शहर के मध्य में स्थित पान दुकानों से सट्टेबाजों को उनके जीत की रकम का भुगतान किया जा रहा है । तो बेखौफ इन्हीं दुकानों के माध्यम से खेल में लगाए जाने वाले राशि को जमा करने का काम भी किया जा रहा है।*
*🛑पर्दाफ़ाश न्यूज की टीम के पास इन सट्टेबाजों के काले कारनामो के सम्बंध में आवश्यक प्रमाण मौजूद है*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *