नान घोटाला : हाईकोर्ट से IPS मुकेश गुप्ता और निज सहायक रेखा नायर को राहत

NAN scandal : हाई कोर्ट ने अपने निर्णय पर दोनों पर कोई भी कठोर कार्रवाई करने पर रोक लगा दी है।

बिलासपुर। हाई कोर्ट ने छत्तीसगढ़ में भाजपा शासनकाल में हुए करोड़ों के नागरिक आपूर्ति निगम(नान) घोटाले में आईपीएस मुकेश गुप्ता व उनकी निज सहायक रेखा नायर को अंतरिम राहत दी है। जस्टिस आरसीएस सामंत की कोर्ट ने दोनों के खिलाफ कठोर कार्रवाई नहीं करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही दोनों को जांच में सहयोग करने को कहा है। दोनों की याचिका पर अब पांच सप्ताह बाद सुनवाई होगी।

एसआईटी ने नान घोटाले में ईओडब्ल्यू व एसीबी के पूर्व प्रमुख आईपीएस मुकेश गुप्ता के खिलाफ दस्तावेज से छेड़छाड व अधिकारियों के फोन टेप करने के आरोप में एफआइआर दर्ज की है। इसके खिलाफ गुप्ता ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की। इसमें कहा गया उन्होंने नान व सिंचाई घोटाले की जांच कर कार्रवाई की थी।

नान घोटाले के एक आरोपित द्वारा मामले की फिर से जांच कराने याचिका दाखिल की गई। उसकी मांग पर सरकार ने जांच शुरू कर एफआइआर दर्ज की है। याचिका में कहा गया कि उन्हें अपने कार्य के दौरान गृह सचिव की अनुमति पर फोन टेप करने का अधिकार है।

दूसरी ओर शासन ने आइपीएस गुप्ता के खिलाफ साक्ष्य होने के आधार पर याचिका खारिज करने की मांग की। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद एडीजी गुप्ता की याचिका को सुनवाई के लिए स्वीकार करते हुए उत्तरवादियों को नोटिस जारी करने का आदेश दिया। इसके अलावा अंतरिम राहत आवेदन पर उत्तरवादियों को उनके खिलाफ कोई भी कठोर कार्रवाई नहीं करने और याचिकाकर्ता को जांच अधिकारी को सहयोग करने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *