छत्तीसगढ़- मानवता हो रही शर्मसार……आरती

*छत्तीसगढ़- मानवता हो रही शर्मसार”*

*रायगढ़ जिले के ग्राम गीधा में होली में हुई शर्मनाक घटना,बलात्कार और हत्या की कोशिश मानवता को शर्मसार कर गई है।*

*एक दुआ उस पीड़िता के नाम जो रायपुर में जिंदगी और मौत से जूझ रही है।।*

*दिल्ली ,मुंबई बड़े बड़े महानगरों और अन्य प्रांतों में अगर किसी युवती के साथ अनाचार होता है,तो हमारे छत्तीसगढ़ के गाँव गाँव मे कैंडल मार्च निकाले जाते हैं,बहुत अच्छी बात भी है लेकिन रायगढ़ जिले की बेटी के साथ मानवता को शर्मसार करने वाली,बहुत ही शर्मनाक घटना होली के दिन हुई है उस घटना पर किसी भी जनप्रतिनिधि, अधिकारी,नेता,मंत्री और न ही छाती ठोककर खुद को सामाजिक कार्यकर्ता कहने वाले किसी भी तथाकथित सामाजिक कार्यकर्ताओं की कोई टिप्पणी अभी तक नही आई है,ऐसा क्यो ?।*

*अपराध वही जघन्यता वही, क्रूरता,वही वहाशियाना हरकत,वही दर्द वही तकलीफ है जो बड़े शहरो और अन्य प्रांतों में घटित हुए है जो की बहुत शर्मनाक और दर्दनाक था ही फिर स्थानीय लोगों के दर्द को क्यो दरकिनार किया जाता है यहां के लोगों द्वारा?*
*क्या बड़े छोटे शहर गांव के अंतर से अपराध की गम्भीरता, जघन्यता और उसके प्रति हमारी पीड़ा स्थान देखकर छोटा बड़ा होना चाहिए?*

*क्या अपराध को अपराध और अपराधी को अपराधी नही मानना चाहिए बिना किसी भेदभाव के?*

*दिखावे और नाटक से दूर होकर जिस तरह हम हाई प्रोफाइल मीडिया ब्लास्ट,केसों में अपना पूरा ध्यान लगाकर उस मामले में खुद उस पीड़िता और पीड़ित परिवार के लिए संवेदना व्यक्त करते है सोशल मीडिया पर केंडल जलाते हुए अपनी फोटो अपलोड करते है,उसी तरह सामान्य गरीब परिवार की बेटी रायगढ़ जिले के खरसिया ब्लाक के ग्राम गीधा की 20 वर्षीय बेटी परिवर्तित नाम रानी के साथ वहशियाना हरकत करने वाले युवकों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही और उस बेटी की सुरक्षा के लिए ईश्वर से प्रार्थना तो रायगढ़ जिले सहित छत्तीसगढ़ के निवासी हम सभी कर सकते हैं क्योंकि रानी के सिर को दरिंदो ने कुचल दिया है और वह रायपुर के अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही है।वही 48 घण्टे से अधिक समय बीत जाने के बाद भी पुलिस युवकों को अज्ञात बता रही है,तो गांव के लोग दबे जुबां से बहुत कुछ बयां कर रहें है,अपराधी कोई भी अपराध की गम्भीरता देखकर उसे तत्काल गिरफ्तार करना चाहिए न कि मुहूर्त देखना चाहिए।*

*🙏तो एक दुआ,एक प्रार्थना रानी के नाम उसकी कुशलता और जल्द स्वस्थ होने के लिये हम सभी को जरुर करना चाहिये।*
*क्योकि दुआओं से बड़ा कोई दवा नही होता है दवा से ज्यादा दुआ काम आती है,और बेटियां तो सभी की बेटियां होती आप सभी से मैं उसके कुशलता की दुआ चाहती हूँ।*

*सामाजिक कार्यकर्ता व पत्रकार*
*आरती वैष्णव*
*रायगढ़,छत्तीसगढ़*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *