नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 97541 60816 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , कभी भिखारियों के बगल में सोए लेकिन आज हैं IPS अफसर, गर्लफ्रैंड की शर्त ने बदली किस्मत… – पर्दाफाश

पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

कभी भिखारियों के बगल में सोए लेकिन आज हैं IPS अफसर, गर्लफ्रैंड की शर्त ने बदली किस्मत…

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

कभी भिखारियों के बगल में सोए लेकिन आज हैं IPS अफसर, गर्लफ्रैंड की शर्त ने बदली किस्मत

मुम्बई-: हर कोई भाग्यशाली और अमीर बनना चाहता है। लेकिन भगवान की असीम कृपा केवल भाग्यशाली लोगों पर ही होती है। धरती पर किसकी किस्मत चमकेगी, इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। आज इस कड़ी में हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताएंगे जो पहले एक भिखारी के साथ सोता था, लेकिन गर्लफ्रैंड की शर्त की वजह से अंत में उसकी किस्मत इस तरह बदल गई कि उसने जिंदगी में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज वे आईपीएस (IPS) अफसर बन गए हैं।

जन्म और घर की स्थिति

आपको बता दें कि हम बात कर रहे हैं मनोज शर्मा नाम के एक खास शख्स की। जो भिखारियों के साथ सोते थे और 12वीं में फेल हो गए थे , उन्होंने ऑटो भी चलाया । लेकिन अंत में उनके प्यार ने उन्हें IPS ऑफिसर बना दिया। मध्य प्रदेश के मुरैना गांव में जन्में मनोज शर्मा की प्राथमिक शिक्षा बहुत ही खराब थी। दरअसल, उन्हें स्कूल में 33 फीसदी अंक भी बड़ी मुश्किल से हांसिल होते थे । जैसे तैसे उन्होंने अपनी ग्यारहवीं कक्षा की पढ़ाई पास की । लेकिन 12वीं में किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और वह फेल हो गए। उनके घर की हालत इतनी खराब थी की उस समय उन्होंने ग्वालियर में टेंपो भी चलाया था। उनके घर में छत तक नहीं थी. इस वजह से उन्हें भिखारियों के साथ सोना भी पड़ा। लेकिन उनका कड़ा संघर्ष उन्हें आसमान की ऊंचाइयों तक ले गया।

 

संघर्ष के दिनों में किया काम

मनोज शर्मा आज भारतीय पुलिस सेवा के सबसे बहादुर अधिकारियों में से एक हैं। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब आर्थिक तंगी के चलते वह अधिकारियों के कुत्तों घुमाया करते थे। उन दिनों मनोज के पास पैसे नहीं थे, इसलिए वह मंदिर में भिखारियों के साथ सोते थे । किसी तरह मनोज को एक लाइब्रेरी में लाइब्रेरियन कम प्यून की नौकरी मिल गई। उसी पुस्तकालय में ने मनोज गोर्की और अब्राहम लिंकन जैसे कई महान लोगो को पढ़ा और उनके द्वारा किए गए कार्यों को अच्छी तरह से समझा । यहाँ पुस्तकों को पढ़कर उन्हें जीवन के वास्तविक पहलुओं का ज्ञान हुआ।

हालांकि, बारहवीं कक्षा के दौरान मनोज के पास परीक्षा में नकल करने की पूरी योजना थी। लेकिन क्लास के दौरान सख्ती के चलते वह कॉपी भी नहीं कर पाए , मनोज उस समय एक शक्तिशाली व्यक्ति बनना चाहता थे । उन दिनों मनोज का दिल श्रद्धा नाम की एक लड़की पर आ गया। लेकिन वो कभी भी उसके सामने अपने प्यार का इजहार नहीं कर पाए । उन्हें डर था कि लड़की उसे 12वीं फेल मानकर उसके प्यार को ठुकरा देगी। लेकिन अंत में उसने लड़की के सामने अपने प्यार का इजहार किया।

एक लड़की के लिए इस तरह खुद को बदला 
उन्होंने श्रद्धा को प्रपोज करते हुए कहा कि अगर तुम हां कहो और मेरा साथ दो तो मैं दुनिया को पलट दूंगा। उसके बाद मनोज ने कड़ी मेहनत की और सब कुछ सच कर दिया। उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा पास की और सफलता हासिल की। वह 2005 बैच के महाराष्ट्र कैडर से आईपीएस बने। वर्तमान में, वह मुंबई में एडिशनल कमिश्रनर ऑफ वेस्ट रीजन के रूप में कार्यरत हैं।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

April 2024
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930