पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

शिक्षक ने शराब पीकर स्कूल में मचाया हंगामा।उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल के विधानसभा क्षेत्र खरसिया में सामने आया बड़ा मामला*

*शिक्षक ने शराब पीकर स्कूल में मचाया हंगामा*

*उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल के विधानसभा क्षेत्र खरसिया में सामने आया मामला*

*शिक्षक ने शराब पीकर स्कूल में मचाया हंगामा*

*उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल के विधानसभा क्षेत्र खरसिया में सामने आया मामला*

*शराबी शिक्षक के विरुद्ध कार्रवाई के लिए प्राचार्य ने जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ को लिखा पत्र*

*शराबी शिक्षक का वीडियो सोशल मीडिया में हुआ वायरल*

रायगढ़।यूं तो हम सभी जानते हैं कि शिक्षक को गुरु कहा जाता है। जो छात्रों को अंधेरे से उजाले की ओर ले जाने वाला एवं राष्ट्र निर्माता के रूप में जाना जाता है। प्राचीन परंपरा के अनुसार गुरुओं की पूजा अर्चना भी की जाती है।किंतु इन दिनों कलयुग का प्रभाव गुरु कहे जाने वाले शिक्षकों पर भी देखने को मिल रहा है।

Φ

ऐसा ही मामला उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल के विधानसभा क्षेत्र खरसिया के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तुरेकेला मैं सामने आया है। जहा विगत 8-10 महीनों से कोरोना के कारण घरों में आराम फरमा रहे शिक्षकों को जब परीक्षा नजदीक आने एवं कोरोना का प्रभाव कम होने के कारण फिर से स्कूलों में ड्यूटी करने आना पड़ रहा है।तो विगत 8-10 माह से आराम फरमा रहे कुछ शिक्षकों को यह बात रास नहीं आ रही है।लगता है यही कारण है कि विद्यालय परिसर में बुरी तरह से शराब के नशे में टुन्न होकर खरसिया विधानसभा के तुरेकेला शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अंतर्गत संलग्न मिडिल स्कूल में शिक्षक महोदय विद्यालय पहुंचे थे जो कि बुरी तरह से शराब के नशे में झूम रहे थे।

प्राचार्य श्री नारंग द्वारा नशे में टुन्न शिक्षक महोदय को विद्यालय परिसर में अनावश्यक हंगामा करने पर रोकने का प्रयास किया तो नशे की आगोश में पूरी तरीके से टुन्न हो चुके शिक्षक महोदय के द्वारा उल्टे ही प्राचार्य से नारायण के साथ गाली गलौज एवं दुर्व्यवहार किया जाने लगा। जब हालात काबू से बाहर हो गए तो मजबूर होकर उक्त शराबी शिक्षक महोदय के कारनामों की जानकारी देने के लिए प्राचार्य महोदय के द्वारा विद्यालय के सदस्यों एवं स्थानीय निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को हस्तक्षेप के लिए बुलाना पड़ा। फिर भी बुरी तरीके से नशे में ट्यून उक्त शिक्षक महोदय अपनी हरकतों से बाज नहीं आए।उनके द्वारा उल्टे ही प्राचार्य महोदय के साथ वाद-विवाद एवं गाली गलौज किया जाने लगा। तब मजबूर होकर संस्था के प्राचार्य श्री नारायण के द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ को एक पत्र लिखकर उक्त शिक्षक महोदय के विरुद्ध अनुशासनात्मक एवं कठोर कार्यवाही के लिए लिखना पड़ा।अब शराबी शिक्षक के कारनामों एवं उनके विरुद्ध किए गए शिकायत की कॉपी सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। ऐसे में यह सवाल उठना भी लाजमी है कि जब छत्तीसगढ़ शासन में उच्च शिक्षा मंत्री जैसे महत्वपूर्ण पद पर आसीन खरसिया विधायक उमेश पटेल के क्षेत्र में शिक्षक शराब पीकर ड्यूटी पर आते हैं और उन पर कोई भी कार्यवाही करने या लगाम लगाने की कोशिश नहीं की जाती है,ऐसे में प्राचार्य के द्वारा कार्यवाही के लिए पत्राचार के बाद एक बार फिर से खरसिया क्षेत्र में शिक्षा व्यवस्था में व्याप्त गड़बड़ी की चर्चा होने लगी है।

तुरेकेला में पदस्थ उक्त शराबी शिक्षक के कारनामों ने एक बार फिर से शिक्षा जगत में गुरुजी के मान सम्मान को धक्का पहुंचाया है।अब इस पर जिला शिक्षा अधिकारी अथवा प्रशासन क्या कार्यवाही करता है,यह तो वक्त ही बताएगा लेकिन शराबी शिक्षक के इस कारनामे ने एक बार फिर से शिक्षा जगत को बदनाम कर दिया है

*शराबी शिक्षक के विरुद्ध कार्रवाई के लिए प्राचार्य ने जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ को लिखा पत्र*

*शराबी शिक्षक का वीडियो सोशल मीडिया में हुआ वायरल*

रायगढ़।यूं तो हम सभी जानते हैं कि शिक्षक को गुरु कहा जाता है। जो छात्रों को अंधेरे से उजाले की ओर ले जाने वाला एवं राष्ट्र निर्माता के रूप में जाना जाता है। प्राचीन परंपरा के अनुसार गुरुओं की पूजा अर्चना भी की जाती है।किंतु इन दिनों कलयुग का प्रभाव गुरु कहे जाने वाले शिक्षकों पर भी देखने को मिल रहा है।

ऐसा ही मामला उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल के विधानसभा क्षेत्र खरसिया के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तुरेकेला मैं सामने आया है। जहा विगत 8-10 महीनों से कोरोना के कारण घरों में आराम फरमा रहे शिक्षकों को जब परीक्षा नजदीक आने एवं कोरोना का प्रभाव कम होने के कारण फिर से स्कूलों में ड्यूटी करने आना पड़ रहा है।तो विगत 8-10 माह से आराम फरमा रहे कुछ शिक्षकों को यह बात रास नहीं आ रही है।लगता है यही कारण है कि विद्यालय परिसर में बुरी तरह से शराब के नशे में टुन्न होकर खरसिया विधानसभा के तुरेकेला शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अंतर्गत संलग्न मिडिल स्कूल में शिक्षक महोदय विद्यालय पहुंचे थे जो कि बुरी तरह से शराब के नशे में झूम रहे थे।

प्राचार्य श्री नारंग द्वारा नशे में टुन्न शिक्षक महोदय को विद्यालय परिसर में अनावश्यक हंगामा करने पर रोकने का प्रयास किया तो नशे की आगोश में पूरी तरीके से टुन्न हो चुके शिक्षक महोदय के द्वारा उल्टे ही प्राचार्य से नारायण के साथ गाली गलौज एवं दुर्व्यवहार किया जाने लगा। जब हालात काबू से बाहर हो गए तो मजबूर होकर उक्त शराबी शिक्षक महोदय के कारनामों की जानकारी देने के लिए प्राचार्य महोदय के द्वारा विद्यालय के सदस्यों एवं स्थानीय निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को हस्तक्षेप के लिए बुलाना पड़ा। फिर भी बुरी तरीके से नशे में ट्यून उक्त शिक्षक महोदय अपनी हरकतों से बाज नहीं आए।उनके द्वारा उल्टे ही प्राचार्य महोदय के साथ वाद-विवाद एवं गाली गलौज किया जाने लगा। तब मजबूर होकर संस्था के प्राचार्य श्री नारायण के द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ को एक पत्र लिखकर उक्त शिक्षक महोदय के विरुद्ध अनुशासनात्मक एवं कठोर कार्यवाही के लिए लिखना पड़ा।अब शराबी शिक्षक के कारनामों एवं उनके विरुद्ध किए गए शिकायत की कॉपी सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। ऐसे में यह सवाल उठना भी लाजमी है कि जब छत्तीसगढ़ शासन में उच्च शिक्षा मंत्री जैसे महत्वपूर्ण पद पर आसीन खरसिया विधायक उमेश पटेल के क्षेत्र में शिक्षक शराब पीकर ड्यूटी पर आते हैं और उन पर कोई भी कार्यवाही करने या लगाम लगाने की कोशिश नहीं की जाती है,ऐसे में प्राचार्य के द्वारा कार्यवाही के लिए पत्राचार के बाद एक बार फिर से खरसिया क्षेत्र में शिक्षा व्यवस्था में व्याप्त गड़बड़ी की चर्चा होने लगी है।

तुरेकेला में पदस्थ उक्त शराबी शिक्षक के कारनामों ने एक बार फिर से शिक्षा जगत में गुरुजी के मान सम्मान को धक्का पहुंचाया है।अब इस पर जिला शिक्षा अधिकारी अथवा प्रशासन क्या कार्यवाही करता है,यह तो वक्त ही बताएगा लेकिन शराबी शिक्षक के इस कारनामे ने एक बार फिर से शिक्षा जगत को बदनाम कर दिया है

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

Advertisement Box 3

लाइव कैलेंडर

May 2021
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  

You may have missed

error: Content is protected !!