पर्दाफाश

Latest Online Breaking News

SBI के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, घर बैठे ऐसे कम करें अपने लोन पर EMI का बोझ

SBI के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, घर बैठे ऐसे कम करें अपने लोन पर EMI का बोझ

News

 

मनीष कुमार, नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के लाखों ग्राहकों के लिए अच्छी खबर है। आप घर बैठे अपने लोन की ईएमआई कम करा सकते हैं। ऐसे ग्राहक जिनका SBI से लोन चल रहा है उनके लिए बैंक ने नया ऑफर लाया है। जिसके तहत लोन की EMI का बोझ आप पर काफी हद तक कम हो सकता है।

दरअसल आरबीई (RBI) के निर्देशों के मुताबिक एसबीआई ने लोन रिस्ट्रक्चरिंग पॉलिसी पेश की है। दरअसल इसका मकसद कोरोना काल में बैंक के कर्जदारों को राहत देना है। इसके लिए बैंक ने सोमवार को एक ऑनलाइन पोर्टल भी लॉन्च किया। ग्राहक बैंक के पोर्टल https://bank.sbi/ या https://sbi.co.in के जरिये घर बैठे पता कर सकेंगे कि उनका होम लोन या ऑटो लोन रिस्‍ट्रक्‍चर हो सकता है या नहीं। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का कहना है कि इस पोर्टल के जरिए ग्राहक आसानी से अपने होम लोन, ऑटो लोन जैसे रिटेल लोन की रिस्ट्रक्चरिंग कर सकेंगे।  ग्राहकों को लोन रिस्‍ट्रक्‍चर की पात्रता की जानकारी हासिल करने के लिए सिर्फ अपनी इनकम का ब्‍योरा देना होगा।

गौरतलब है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के लोन रिस्ट्रक्चरिंग फ्रेमवर्क के तहत वे कर्जदार लोन रिस्ट्रक्चरिंग के लिए पात्र हैं, जिनके लोन अकाउंट स्टैंडर्ड श्रेणी में आते हैं। इसमें वे ग्राहक आएंगे, जिन्‍होंने लोन पेमेंट में 1 मार्च 2020 तक 30 दिन या इससे ज्यादा का डिफॉल्ट नहीं किया है। साथ ही कोरोना संकट का असर जिनकी आय पर पड़ा है। वे भी इसके दायरे में आएंगे।

इतना ही नहीं एसबीआई के इस पोर्टल के जरिये ग्राहक अपने लोन के मोरेटोरियम के लिए भी रिक्वेस्ट कर सकेंगे। इसके तहत एक महीने से लेकर 24 महीने तक के लिए मोरेटोरियम की रिक्वेस्ट किया जा सकेगी। इतना ही नहीं यदि ग्राहक इस पोर्टल के जरिये अपने लोन रिपेमेंट की अवधि बढ़ाने के लिए भी रिक्वेस्ट कर सकते हैं। आपको बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकों को 15 सितंबर 2020 तक लोन रिस्ट्रक्चरिंग योजना शुरू करने की अपील की थी।

ऐसे करें अपने लोनी की रिस्ट्रक्चरिंग

– SBI के दिए गए पोर्टल पर लॉग करें

– इसके बाद अपना खाता नंबर डालें

– ओटीपी वैलिडेशन पूरा होने और कुछ जरूरी जानकारियां डालने के बाद ग्राहक को लोन रिस्ट्रक्चरिंग को लेकर इलिजिबीलिटी का पता चलेगा।

– इसके बाद एक रेफरेंस नंबर मिलेगा।

– इसके बाद ग्राहक 30 दिन के भीतर जरूरी औपचारिकताएं पूरी करने के लिए बैंक की शाखा जा सकते हैं।

– लोन रिस्ट्रक्चरिंग की प्रक्रिया डॉक्‍युमेंट्स के वेरिफिकेशन और ब्रांच में डॉक्युमेंट के एग्जीक्यूशन के बाद पूरी होगी।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

Advertisement Box 3

लाइव कैलेंडर

September 2021
M T W T F S S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
error: Content is protected !!